Budh Vakri – ग्रहों के राजकुमार बुध देव होने जा रहे हैं वक्री

by Vinay Bajrangi

This free e-book was created with
Ourboox.com

Create your own amazing e-book!
It's simple and free.

Start now

Budh Vakri – ग्रहों के राजकुमार बुध देव होने जा रहे हैं वक्री

  • Joined Jun 2021
  • Published Books 181

Mercury Transit: ज्योतिष शास्त्र के अनुसार जब भी कोई ग्रह गोचर या वक्री होता है। तो उसका सीधा प्रभाव सभी राशियों पर पड़ता है।  ग्रहों के राजकुमार बुध 10 मई से वृष राशि में/Mercury Transit in Taurus वक्री हो रहे हैं और फिर 13 तारीख को अस्त हो जाएंगे। बुध ग्रह को बुद्धि, तर्क शक्ति, वाणिज्य, अर्थव्यवस्था, शेयर और व्यापार का दाता माना जाता है। इसलिए बुध ग्रह वक्री होने का असर इन क्षेत्रों पर विशेषकर असर पड़ेगा। लेकिन 3 राशियां ऐसीं है जिनको इस दौरान विशेष सावधान रहने की जरूरत है और इनको थोड़ा आर्थिक रूप से भी परेशानी झेलनी पड़ सकती है। आइए जानते हैं ये राशियां कौन सीं हैं।

मिथुन राशि: बुध ग्रह का व्रकी होना इन राशि के लोगो कि लिऐ कष्टकारी साबित हो सकता है। क्योंकि बुध ग्रह आपके द्वादश स्थान में/Mercury in Tenth House वक्री होने जा रहे हैं। जिसे हानि और व्यय का भाव कहा जाता है।  इसलिए इस समय आप लोगों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है। साथ ही व्यापारिक लेन- देन में सतर्कता बरतें। साथ ही स्वास्थ्य में भी इस दौरान उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है।

कन्या राशि: आपकी राशि में बुध नवम स्थान में वक्री होने जा रहे हैं, जिसे भाग्य और विदेश यात्रा (Foreign Travel Astrology) का भाव कहा जाता है। इस दौरान कन्या राशि के लोगों को मेहनत ज्यादा करनी पड़ेगी। साथ ही भाग्य का कम साथ मिलेगा।  साथ ही प्रतियोगी छात्रों को किस्मत का कम साथ मिलेगा। धार्मिक-क्रियाकलापों से भी आपका मन हट सकता है। साथ ही अगर आप अभी कहीं व्यवसायिक यात्रा का मन बना रहे हो तो अभी टाल दें तो बेहतर होगा।

धनु राशि: आपकी राशि मे बुध ग्रह षष्ठम स्थान में वक्री होने जा रहे हैं। जिसे शत्रु और रोग का स्थान कहा जाता है। इसलिए इस समय आपके विरोधी आपके खिलाफ कोई साजिश रच सकते हैं। मतलब शत्रु पक्ष आपको काम में रुकावट पैदा कर सकता है। वहीं परिवार में भी नोकझोंक हो सकती है। साथ ही कोई पुराना रोग उभर सकता है या कोई बीमारी हो सकती है (Health Astrology) साथ ही बुध देव आपके सप्तम स्थान के स्वामी है। इसलिए इस दौरान आपके जीवनसाथी के साथ कुछ संबंध खराब हो सकते हैं।

1
This free e-book was created with
Ourboox.com

Create your own amazing e-book!
It's simple and free.

Start now

Ad Remove Ads [X]
Skip to content