Chaitra Navratri 2022: कब है चैत्र नवरात्रि? जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

by Vinay Bajrangi

This free e-book was created with
Ourboox.com

Create your own amazing e-book!
It's simple and free.

Start now

Chaitra Navratri 2022: कब है चैत्र नवरात्रि? जानें पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

  • Joined Jun 2021
  • Published Books 181

Chaitra Navratri 2022: मां दुर्गा के पवित्र 9 दिन यानी नवरात्रि का आगमन होने वाला है। साल में 4 बार नवरात्रि का त्योहार मनाया जाता है, लेकिन हिंदू मान्यताओं में चैत्र और शारदीय नवरात्रि का विशेष महत्व है। इस बार चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल 2022 दिन शनिवार से आरम्भ हो रही है, जो 11 अप्रैल 2022 दिन सोमवार को समाप्त होगी। नवरात्रि में मां दुर्गा के नौ स्वरूपों की पूजा की जाती है। नवरात्रि के पहले दिन घटस्थापना होती है। मान्यता है कि नवरात्रि में माता का पाठ करने से देवी भगवती की खास कृपा बनी रहती है। लेकिन इस कृपा को पाने के लिए आपको कलश स्थापना शुभ मुहूर्त पर करनी होगी।

कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त/Shubh Muhurat

कलश की स्थापना चैत्र मास की शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि को होगी। कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त 2 अप्रैल सुबह 06:10 बजे से 08:29 बजे तक है। इस शुभ घड़ी की कुल अवधि- 2 घंटे 18 मिनट। इस दौरान कलश स्थापना करने से सभी मनोकामना पूर्ण हो सकती हैं।

 

कलश स्थापना कैसे करें (Navratri Kalash Sthapana)

सबसे पहले मंदिर की साफ-सफाई कर सफेद या लाल कपड़ा बिछाएं। इस कपड़े पर थोड़े चावल रखें। एक मिट्टी के पात्र में जौ बो दें। इस पात्र पर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें। कलश पर स्वास्तिक बनाकर इस पर कलावा बांधें। कलश में साबुत सुपारी, सिक्का और अक्षत डालकर अशोक के पत्ते रखें। एक नारियल लें और उस पर चुनरी लपेटकर कलावा से बांधें। इस नारियल को कलश के ऊपर पर रखते हुए देवी दुर्गा का आवाहन करें। इसके बाद दीप आदि जलाकर कलश की पूजा करें। नवरात्रि (Chaitra Navratri 2022) में देवी की पूजा के लिए सोना, चांदी, तांबा, पीतल या मिट्टी का कलश स्थापित किया जाता है। हर दिन मां देवी की अलग अलग स्वरूप की पूजा होती है। चलिए जानते हैं कि किस दिन मां देवी के कौन से रूप की पूजा होगी।

 

Gudi Padwa 2022: Know when is Gudi Padwa? Date, muhurat, significance and celebrations of the festival in India

किस दिन होगी मां दुर्गा के किस स्वरूप की पूजा ?

1- नवरात्रि पहला दिन: मां शैलपुत्री पूजा

2- नवरात्रि दूसरा दिन: मां ब्रह्मचारिणी पूजा

3- नवरात्रि तीसरा दिन: मां चंद्रघंटा पूजा

4- नवरात्रि चौथा दिन: मां कुष्मांडा पूजा

5- नवरात्रि पांचवां दिन: मां स्कंदमाता पूजा

6- नवरात्रि छठवां दिन: मां कात्यायनी पूजा

7- नवरात्रि सातवां दिन: मां कालरात्रि पूजा

8- नवरात्रि आठवां दिन: मां महागौरी

9- नवरात्रि 9वां दिन: मां सिद्धिदात्री

10- नवरात्रि 10वां दिन: नवरात्रि पारण

इस नवरात्रि कुछ और बातों का आपको खास ध्यान रखना होगा। नवरात्रि के शुभ अवसर पर आप अपनि राशि की नवरात्रि साप्ताहिक राशिफल/Navratri Special Weekly Horoscope भी जान सकते हैं।

 

Source URL: https://sites.google.com/view/vinaybajrangis/blog/chaitra-navratri-2022

1
This free e-book was created with
Ourboox.com

Create your own amazing e-book!
It's simple and free.

Start now

Ad Remove Ads [X]
Skip to content